परवरिश योजना, बिहार पीड़ित बच्चों के लिए

Spread the love

बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग द्वारा परवरिश योजना चलायी जाति है । हाल ही में बिहार सरकार के द्वारा एलान किया है की कोरोना वायरस से जो बच्चे अपने माँ-बाप को खो चुके है उन्हें परवरिश योजना से जोड़ा जाए, यह बिहार सरकार द्वारा अनाथों, वंचितों और विकलांग बच्चों के कुछ समूह की देखभाल करने वाले परिवारों और संगठनों को अनुदान प्रदान करने के लिए बनाई गई एक पालक देखभाल योजना है। बिहार में प्रशासन इस कार्य को बहुत गंभीरता से ले रहा है और इसका कार्यान्वयन काफी सफल रहा है। प्राप्त सुचना के अनुसार 43 बच्चो का पचान कर जिनके माता-पिता कोरोना वायरस के कारण मृत्यु हो गयी है, हाल ही में इस योजना से जोरा गया है।

परवरिश योजना योजना हेतु पात्रता

परवरिश योजना के लिए कुछ नियम हैं जिनके आधार पर लाभार्थी को इस योजना का भुगतान किया जाता है । इसकेलिए पात्रता निचे दर्शाया गया है :-

  • यह योजना अनाथ बच्चो के लिए है जिनकी उम्र 18 साल से कम है
  • अगर कोई बच्चा शारीरिक रूप से कमजोर है तो वैसी स्तिथि में परवरिश योजना के लिए उसकी अधिकतम उम्र 10 साल निर्धारित है।
  • बच्चे का नाम बीपीएल कार्ड में पंजीकृत होना चाहिए ।
  • बच्चे के परिवार की आय अधिकतम तीस हजार रुपये तक होनी चाहिए ।

याद रखने योग्य बिंदु:

  • यह योजना उन अनाथ बच्चों के लिए कवर नहीं है, जो निराश्रित या किशोर गृहों के घरों में या ऐसे किसी अन्य स्थान पर रखे गए हैं जो सरकार से वित्त प्राप्त कर रहे हैं।
  • सभी भुगतान बच्चे के नाम से खोले गए बचत बैंक खाते के डाकघर बैंक खाते के माध्यम से जरूरतमंद बच्चे के पालक परिवार को किए जाएंगे।

परवरिश योजना का लाभ

  • परवरिश योजना के अंतर्गत बच्चे को आर्थिक सहायता दी जाती है | बच्चे की देख भाल के लिए पैसे उसके अभिभावक या माता-पिता को दी जाती है |
  • हर वर्ष बच्चे को 6000 रूपये दिए जाते है जो दो किश्तों में होती है | राशि का भुगतान 3000-3000 की दो अलग-अलग किश्त में किया जाता है |

परवरिश योजना हेतु आवेदन कैसे करें

  • वहां आपको समाज कल्याण विभाग बॉक्स में परवरिश योजना का लिंक मिलेगा
  • उसपर क्लिक करें और लॉगइन पेज पर जाएँ
  • अपने इ-कल्याण आई डी और पासवर्ड से लॉगइन करें
  • नए रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन पत्र खोले
  • परवरिश योजना के आवेदक बच्चे की जानकारी और अभिभावक की जानकारी फॉर्म में जमा करें
  • बीपीएल सूची में होने की जानकारी दें
  • इसके बाद रजिस्ट्रेशन फॉर्म सबमिट कर दें
  • यदि आप आप चाहे तो बिहार राज्य के किसी जिले में समाज कल्याण विभाग कार्यालय से भी परवरिश योजना हेतु आवेदन कर सकते है

 

सभी भुगतान बच्चे के नाम से खोले गए बचत बैंक खाते के डाकघर बैंक खाते के माध्यम से जरूरतमंद बच्चे के पालक परिवार को किए जाएंगे।

उम्मीद है मेरा ये पोस्ट आपको पसंद आया होगा अगर मेरा पोस्ट पसंद आया तो आप इसे Whatsapp Group, Facebook Group में साझा करें अपने दोस्तों को इस योजना के बारे में जानकारी दे तहलका मचा दें |

धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *